Skip to main content

Sex Stories – फ़ोन से दोस्ती आवर लंड से चूत चुदाई

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम विकी है, आज आपको मैं अपनी सच्ची कहानी बता रहा हूँ।

बात दो साल पहले की है.. जब मैं अपने दोस्त की दुकान पर गया तो मेरा दोस्त अन्दर फोन पर बात कर रहा था.. मेरे को बैठा कर वो फिर फोन पर बात करने लगा।

जब वो बात करके वापस मेरे पास आया तो मैंने पूछा- किसके साथ लगा था तू?

मेरे दोस्त ने बताया- एक लड़की है लखनऊ की.. उससे मज़े ले रहा था। तेरे को भी अगर मज़े लेना है.. तो फोन नम्बर ले ले.. बहुत सेक्सी बातें करती है।
पहले तो मैंने बोला- यार कौन फोन में पैसे बर्बाद करे।
मेरे दोस्त ने बोला- जैसी तेरी मरजी।

फिर भी उसने मेरे को नंबर दे दिया और मैंने मोबाइल में स्टोर कर लिया।
उस लड़की का नाम अंजलि था।

उस रात को अकेले बैठा था.. तो मेरे दिमाग में बस उस लड़की के नंबर की बात याद कर मैंने उस नंबर में मिस कॉल किया।

कुछ देर बाद उस नंबर से मेरे को फोन आया।
मैंने फोन पर ‘हैलो’ बोला.. दूसरी तरफ से एक लड़की की आवाज़ आई और बोली- आपके नंबर से मेरे को मिस कॉल आई है.. आप कौन बोल रहे हैं?

मैंने बोला- ग़लती से फोन लग गया था।
उसने फोन कट कर दिया।

फिर मैंने नाइट में एक मैसेज किया- आपकी आवाज़ बहुत स्वीट है।
उसका रिप्लाइ आया- थैंक्यू।

इस तरह उससे बातों का सिलसिला शुरू हो गया। अब हम दोनों फोन पर खूब बातें करने लगे।
एक दिन मैंने पूछा- तुम्हारा कोई ब्वॉयफ्रेंड है?

तो कुछ देर तक वो चुप रही.. फिर बोली- अगर मैं आपको सच बोलूँगी.. तो आप मेरे से बात करना बंद नहीं करोगे.. प्रॉमिस करो.. तब मैं सब कुछ बताऊँगी।
मैंने बोला- डरो नहीं मैं तुम्हारा सच्चा दोस्त हूँ।

उसने बोला- हाँ मेरा एक ब्वॉयफ्रेंड है.. पर अब उसकी शादी हो रही है।
इतना बोल कर वो रोने लगी।

मैंने उसको चुप कराया और बोला- रो क्यों रही हो.. क्या मैं तुम्हारा नहीं हूँ।

फिर वो मुझको ‘आई लव यू’ बोली और मेरे को फोन में एक किस किया।

मैंने बोला- मेरे रहते हुए तुम कभी भी रोना नहीं.. और एक बात बोलो कि क्या तुम अभी भी उस लड़के से प्यार करती हो?

तो उसने बोला- हाँ.. पर वो लड़का अब मुझसे बात नहीं करता है और बहुत उल्टा बोलता है।

मैंने अंजलि से पूछा- क्या तुम दोनों के बीच सेक्स भी हुआ था?
तो वो चुप हो गई।

मैंने फिर बोला- मेरे को बताओ और डरो नहीं.. मैं तुमको छोड़ कर नहीं जाऊँगा।
वो बोली- हाँ उसने मेरे साथ सेक्स किया है।

अंजलि की बातों को सुन कर मेरा लण्ड टाइट हो गया था.. और मेरे दिल में बस उसको चोदने का प्लान बनने लगा।
उस दिन से उससे सेक्स की बातें भी शुरू कर दीं।

एक दिन मैंने उसको बोला- तुमसे बात करके मेरा लण्ड टाइट हो गया है।
तो वो बोली- तुम हिला कर गिरा लो।

यह बात सुन कर मैं जान गया कि ये बहुत बड़ी रंडी है और इसको भी लण्ड की ज़रूरत है।
फिर हम दोनों डेली सेक्स की बातें करते और उससे बात करते-करते मैं लण्ड हिलाता और वो चूत में उंगली करके और मेरे को उंगली करते हुए आवाज़ सुनाती और फिर मैं अपना माल गिराता और वो भी मज़े लेती।

इस तरह पूरा एक महीना गुजर गया था, अब मैं उसको चोदना चाहता था।
वो दूसरे शहर में थी और मैं दूसरे शहर में था, कोई जगह भी नहीं थी कि हम मिल सकें।

एक दिन मैंने उससे बोला- मैं तुम्हारे शहर आ रहा हूँ… कल तुम बस स्टैंड में आ जाना।
पहले तो उसने मना किया- नहीं आ सकती.. मेरे घर वाले बहुत ही सख्त हैं.. किसी को पता चल गया.. तो दिक्कत हो जाएगी।

मैंने गुस्से से बोला- तुमको मेरे से मिलना ही नहीं।
उसने मुझको बोला- सही वक्त आने दो.. मैं तुमको खुद मिलने के लिए बोलूँगी।

इस तरह कुछ दिन और बीत गए और फिर फाइनली वो दिन आ ही गया, वो मुझसे मिलने के लिए बोली।
मैंने बस पकड़ी और लखनऊ पहुँच गया।

मैंने उसको कॉल किया और पूछा- अंजलि कहा हो.. मैं स्टैंड के पास हूँ?
वो बोली- वहीं रहो.. बस 5 मिनट में पहुँच रही हूँ।
और फोन कट कर दिया।

आज तक ना तो उसने मेरे को देखा था और ना मैंने उसको.. सो मैं उसके बारे में सोच रहा था कि वो देखने में कैसे होगी।
तभी अंजलि का फोन आया- कहाँ हो.. क्या पहना है?

तो मैंने बोला- मैं स्टैंड के पास हूँ और टी-शर्ट पहनी हुई है। तुमने क्या पहना है?
तो उसने बोला- काले रंग का सूट पहना है।

मैंने देखा एक लड़की जिसका फेस ढका हुआ था.. मैं उसके पास जा कर बोला- अंजलि?
वो बोली- हाँ..
मैं बोला- मैंने तुमको दूर से देख लिया था।

वो बोली- यहाँ से जल्दी चलो.. यहाँ बहुत से लोग मुझको जानते हैं।
मैंने पूछा- कहाँ चलें?
तो उसने बोला- कहीं भी चलते हैं.. मगर यहाँ से चलो।

मैं लखनऊ बहुत आता-जाता रहता हूँ और 3 साल रहा भी हूँ.. तो मैं सब कुछ जानता था।

मैंने बोला- चलो होटल चलते हैं.. रूम ले लेते हैं और फिर आराम से बात करते हैं.. उधर कोई प्राब्लम भी नहीं होगी।
इस पर पहले तो वो मानी नहीं.. मगर मेरे कहने पर वो कुछ देर में मान गई।

मैं उसे एक होटल में ले गया और उसके साथ कमरे में गया।
जैसे कि मैं पहले से ही उसको चोदने का प्लान करके आया था, होटल के कमरे में जा कर मैंने दरवाजा बंद किया और फिर अंजलि को मैंने बाँहों में लेकर कहा- अंजलि मैं तुमसे मिलने के लिए बहुत बेचैन था।

दोस्तो.. अंजलि सवा पांच फुट की थी और बहुत गोरी तो नहीं थी.. और ना बहुत सुंदर थी.. फिर भी चोदने लायक तो थी।

उसको बाँहों में लेने के बाद मैंने उसके होंठों पर किस कर दिया।

वो अपने पुराने ब्वॉयफ्रेंड से पहले भी करवा चुकी थी.. तो मेरे साथ किस करने में उसको कोई प्राब्लम नहीं थी, वो मेरा पूरा साथ दे रही थी।

इस तरह हम एक-दूसरे को कुछ देर तक किस करते रहे, फिर मैंने उसको उठा कर बिस्तर पर पटक दिया, उसके होंठों पर अपने होंठ रख कर चुम्बन करने लगा।

मेरे हाथ धीरे से उसके चूची पर चले गए और मैं उसको धीरे से दबाने लगा।
अब उसकी साँसें तेज़ होने लगीं.. और फिर अंजलि ने मेरे कान में बोला- अब रहा नहीं जाता विकी.. मुझको प्यार करो।

मैंने उसके सूट को खोलने लगा.. वो मेरे सामने रेड रंग की ब्रा और पैन्टी में थी। उसको नंगी देख कर मेरा लण्ड नब्बे डिग्री पर खड़ा हो गया था।

Sex Stories – आंटी की छोटी बेटी की चुदाई

प्रेषक : गणेश …

हैल्लो दोस्तों, कैसे हो आप सब? में इस साईट का रेग्युलर रीडर हूँ, मेरा नाम गणेश है और में थाने मुंबई का रहने वाला हूँ, हाईट 5 फुट 10 इंच, स्लिम फिट बॉडी, लंड साईज 6 इंच और मेरी उम्र 23 साल है, में स्टॉक ब्रोकर एजेंट हूँ। दोस्तों यह स्टोरी एक साल पुरानी होगी, जब मेरे 12वीं क्लास के एग्जॉम को 1 महिना बाकी था।  हमारे घर के बगल में एक फेमिली रहती थी, लेकिन उन्होंने कुछ महीने पहले ही अपना रूम शिफ्ट किया था। उनके एक बेटी श्वेता और लड़का अमोल था। अमोल 9वीं क्लास में था और श्वेता 12वीं क्लास में थी। अब 12वी के एग्जॉम के 2 महीने पहले अंकल ने मुझे श्वेता को अकाउंट पढ़ाने के लिए कहा तो मैंने उस काम के लिए उन्हें हाँ कर थी, मुझे कोई प्रोब्लम नहीं थी और श्वेता को भी कोई प्रोब्लम नहीं थी, क्योंकि हम एक दूसरे को काफ़ी अच्छी तरह से पहचानते थे।

अब में श्वेता को रोजाना अकाउंट पढ़ाने जाता था, उसकी एक फ्रेंड थी अश्विनी और वो भी वहाँ पर पढ़ने  आती थी। वो दोनों काफ़ी अच्छी लड़कियां थी, लेकिन मेरे मन में उन दोनों के लिए कोई गलत सोच नहीं थी। अब वो दोनों खूब जी लगाकर पढ़ रही थी, जो में उनको पढ़ाता था वो लोग झट से याद कर लेते थे, उन दोनों ने काफ़ी हद तक अपनी कवर कर लिया था। अब एग्जॉम को सिर्फ़ एक महीना बाकी और बाद में अश्विनी का आना बंद हो गया, उसके घरवालों ने उस पर रोक डाल दी थी, लेकिन मैंने श्वेता को पढ़ाना जारी रखा। अब एग्जॉम के 1 महीने पहले श्वेता की नानी का स्वर्गवास हो गया और वो सब लोग अपने गावं चले गये। मुझे यह बात श्वेता ने कॉल करके बता दी थी अब हमारी पढाई बंद हो चुकी थी।

फिर कुछ 2 दिन के बाद मुझे श्वेता का कॉल आया और कहा कि में घर आ चुकी हूँ तुम मुझे पढ़ाने शाम को मेरे घर आ जाना, तो मैंने हाँ कहा और फोन रख दिया। फिर में उस दिन उसके घर गया और डोर बेल बजाई तो  सामने श्वेता थी और घर में कोई नहीं था। फिर  मैंने उससे पूछा कि अंकल और आंटी कहाँ है?  तब उसने कहा कि मम्मी पापा 10 से 12 दिनों के लिए गावं में ही है और मुझसे कहा कि पापा ने कॉल करने को कहा है। फिर मैंने अपने मोबाईल से अंकल को कॉल किया, तो अंकल बोले कि हम लोग 12 दिन तक नहीं आ सकते तो तुम श्वेता को पढ़ा कर अपने घर ले जाना और खाना खिला देना, वैसे उनकी और हमारी फेमिली के बहुत अच्छे रिलेशन थे, तो मैंने हाँ कहकर कॉल काट दिया।

अब में उनके हॉल में बैठा था, तभी मुझे श्वेता ने अपने बेडरूम में बुलाया और अब हम लोग रोजाना बेडरूम में ही पढाई करते थे। अब 2 दिन हो गये थे। फिर में तीसरे दिन जब श्वेता के घर गया और डोर बेल बजाई और श्वेता ने डोर ओपन किया तो ओह माई गॉड वो क्या लग रही थी? अब में अंदर गया और उससे कहा कि श्वेता तुम आज बहुत कमाल की लग रही हो। उसने पर्पल कलर का टॉप और ब्लेक कलर की टाईट शॉर्ट पहनी थी। दोस्तों मैंने अभी तक श्वेता का पूरी तरह से आपके सामने परिचय नहीं किया है। दोस्तों श्वेता दिखने में एकदम हरी भरी थी, रंग गोरा, साईज़ 38-30-38 की होगी। दोस्तों मेरे मन में आज तक श्वेता के लिए कुछ नहीं था, लेकिन आज जो उसने अपना रूप दिखाया तो में उसका दीवाना हो गया था।

अब उस दिन हम पढ़ रहे थे, लेकिन मेरा ध्यान अक्सर उसके बूब्स पर जा रहा था, कितनी भी कोशिश करके में अपने आपको कंट्रोल नहीं कर पा रहा था। फिर मैंने तुरंत पढ़ाई बंद कर दी और श्वेता से बातचीत करने लगा। तभी मैंने उससे कहा कि तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है? तो पहले तो उसने ना कहा, लेकिन मैंने उससे सच निकाल लिया, तो वो बोली हाँ एक लड़का है। तभी मैंने उसे सेक्स की तरफ खींच लिया, मगर अभी तक उनमें कुछ नहीं हुआ था सिर्फ़ किसिंग हुई थी और वो भी सिर्फ़ सिनेमा हॉल में ही। फिर मुझे हँसी आ गयी, लेकिन मेरा पूरा ध्यान उसके बूब्स पर ही था। अब पढ़ाई करते वक़्त मैंने उसकी क्लेवेज भी देख ली थी, क्या क्लेवेज थी उसकी? बाप रे बूब्स तो कमाल के थे। अब में सोच रहा था कि इसका बॉयफ्रेंड तो बहुत ही लकी होगा, अब इतने में मेरा लंड टाईट हो गया था और जो उसने भी नोटीस कर लिया था, अब उस दिन तो ज़्यादा कुछ नहीं हुआ।

फिर अगले दिन में उसके घर गया और अब श्वेता ने कल के जैसे ही कपड़े पहने हुए थे। अब में थोड़ा समझ गया था कि मुझे ग्रीन सिग्नल मिल रहा है, लेकिन डर भी लग रहा था कि कहीं कुछ ग़लत ना हो जाए। फिर कुछ 20 मिनट के बाद में लगातार श्वेता के बूब्स को देख रहा था और मुझे अपना ध्यान भी नहीं था। तभी अचानक श्वेता हंस पड़ी और में ऐसे बर्ताव करने लगा कि जैसे मैंने कुछ किया ही नहीं। अब श्वेता उठकर किचन में गयी और हमारे लिए जूस लेकर आई, लेकिन आते समय उसका पैर उसके पैर में अटक गया और पूरा जूस मेरे ऊपर गिर गया। फिर मैंने जाकर उसे उठा लिया और सोफे पर बैठा दिया। अब वो मुझे सॉरी कहने लगी और बार-बार सॉरी कहने लगी। फिर उसने अपने ही रुमाल से मेरा मुँह साफ करना चालू किया, उूउउफफफफफफ्फ़ यारो उसकी बॉडी की क्या स्मेल थी? आज तक श्वेता मेरे इतने करीब कभी नहीं आई थी, अब हम दोनों सोफे पर बैठे थे और वो मेरा मुँह साफ़ कर रही थी।

अब उसकी गर्म-गर्म साँसे मेरे चेहरे पर आ रही थी, तो अब मुझसे रहा नहीं गया और फिर मैंने झट से मेरा हाथ उसकी कमर पर रख दिया और उसे अपने दोनों हाथों से पकड़ लिया। अब उसके बूब्स मेरी छाती को टच कर रहे थे, लेकिन श्वेता मुझसे दूर होना चाहती थी। फिर मैंने झट से उसके गालों पर किस कर लिया और उसने कहा कि ये तुम क्या कर रहे हो? तो मैंने कुछ नहीं कहा और उसे जाने दिया। अब में साफ़ होकर वापस उसको पढ़ाने लगा और बीच में उससे कहा कि जो तुम्हारे बॉयफ्रेंड ने अभी तक नहीं दिया है वो में दे सकता हूँ। फिर उसने मुझे इग्नोर किया और मैंने झट से उसका हाथ पकड़ लिया, अब वो मना कर रही थी और प्लीज प्लीज बोल रही थी। फिर मैंने कहा ठीक है। फिर उस दिन रात को श्वेता का मैसेज आया कि..

श्वेता –  गणेश अब तक मुझे किसी ने किस नहीं किया था, तुम पहले लड़के हो जिसने मुझे किस किया है, अब मुझे नींद नहीं आ रही है में क्या करूँ?

तो तब मैंने उसे रिप्लाई किया।

में –  तुम झूठ कह रही हो,  तुमने ही तो मुझे कहा था कि तुम्हारा बॉयफ्रेंड सिनेमा हॉल में किस करता है।

श्वेता –  वो मैंने तुमसे झूठ कहा था कि तुम मुझ पर हंस ना पड़ो इसलिए।

में – हाँ ठीक है, में अभी सो रहा हूँ, हम कल बात करते है और में तेरे घर जल्दी आ जाऊंगा, बाय, गुड नाईट।

फिर अगले दिन में उसके घर शाम के 4 बजे ही गया तो  वो सो रही थी और नींद में थी। फिर जब उसने अपना डोर ओपन किया तो उसने मुझे अपने बेडरूम में बुलाया तो में अंदर चला गया। अब वो बेड पर बैठी थी और मैंने उसके हाथ पर अपना हाथ रख दिया और उसके और नज़दीक आ गया। अब शायद दोनों तरफ आग लगी हुई थी। फिर मैंने उसे गालों पर किस किया, लेकिन इस बार श्वेता ने कुछ भी नहीं कहा। अब में उसे गालों पर किस करते करते उसके कोमल होंठो तक पहुँच गया, क्या सॉफ्ट होंठ थे उसके? फिर मैंने एक लम्बी किस ली। अब श्वेता भी गर्म हो चुकी थी और अब वो भी मुझे रेस्पोन्स दे रही थी। अब  हमने करीब 10 मिनट तक किसिंग की, जब श्वेता ने सिल्क पिंक कलर की गाऊन पहनी थी और उस पर उसके बूब्स क्या गजब ढा रहे थे?

अब में अपना एक हाथ उसके बूब्स रखकर बूब्स मसाज देने लगा, अब में ज़ोर-ज़ोर से उसके बूब्स दबा  रहा था, तो उसने कहा कि जरा आराम से करो, मुझे दर्द हो रहा है। अब यह सुनकर मेरा लंड 6 इंच फुल तन गया था। अब में बेड पर सो गया और मैंने अपनी टी-शर्ट निकाल दी। अब वो मेरी छाती पर किस कर रही थी, अब वो मेरे ऊपर थी। अब में अपने दोनों हाथों से उसकी सिल्क गाऊन धीरे-धीरे ऊपर खींच रहा था। तो अब उसकी गाऊन उसके पैर पर से सरकती-सरकती ऊपर आ रही थी। अब उसके टच ने उसे और भी मदहोश बना दिया था। फिर मैंने उसकी गाऊन कूल्हों तक ऊपर की, तो उसने ऊपर तक अपनी गाऊन ओढ़ ली और अब में उसकी पेंटी के ऊपर से ही उसके स्पंची कूल्हों पर हाथ घुमाने लगा, क्या टच था? अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर मैंने उसकी पेंटी के कट से अपने दोनों हाथों को अंदर डाल दिया और पेंटी को नीचे खींच दिया तो उससे श्वेता और भी गर्म हो गयी और वो मुझे काटने लगी। अब उसके मुँह से सिसकारियां चालू हुई आआआअ आाईईईईईई ईईईईईईईईया आआआआआअ आआअहह आआहह। फिर मैंने उसे उठा लिया और बेड पर बैठने को कहा। फिर मैंने उसकी गाउन निकाल दी उूउउफफफफफ्फ़ क्या कमाल की लग रही थी यारो?  उसकी ब्रा तो बहुत ही सेक्सी थी वाईट कलर की और पेंटी भी कमाल की थी। अब मैंने भी अपनी जीन्स निकाल दी और उसके सामने अपनी अंडरवेयर में ही बैठ गया। अब उसमें से मेरा लंड सलाम कर रहा था और बाहर आने को मचल रहा था, अब में अभी बेड पर दीवार के सहारे बैठ गया और उसे मेरे ऊपर बैठा लिया। अब मेरी छाती पर श्वेता की पीठ थी तो में उसे उसके कंधे पर किस करने लगा। फिर मैंने उसकी गर्दन पर 3 से 4 किस दे दिए।

अब मैंने मेरे दोनों हाथ उसकी ब्रा में डाल दिए और उसको बूब्स मसाज देने लगा। उसके बूब्स थोड़े बड़े थे तो वो मेरे एक हाथ में पूरे नहीं समा रहे थे, लेकिन एकदम फ्रेश थे। अब बूब्स दबाते समय उसके मुँह से सिसकारी निकलनी चालू थी, आआहह आआअहह आआआअ। अब मैंने उसकी ब्रा के हुक को खोल दिया, तो जैसे ही मैंने उसकी ब्रा को निकाला तो उसके बूब्स बाहर उछल पड़े, क्या लग रहे थे? फिर मैंने उसे थोड़ा टेड़ा करके राईट वाला बूब्स अपने मुँह में ले लिया और अब में लेफ्ट वाला बूब्स हाथ से दबा रहा था। अब उसकी मौन चालू थी, अब उसकी मौन मुझे उत्तेजित कर रही थी और अब श्वेता की साँसे भी तेज़ होती जा रही थी। इस दौरान मैंने मेरा हाथ उसकी पेंटी में डाल दिया उउउफ़फ्फ़ क्या मजा आया? उसकी चूत पूरी गीली थी। अब में समझ गया कि वो झड़ चुकी थी, अब मुझसे भी रहा नहीं जा रहा था, अब में उसकी चूत में अपनी उंगली डालकर उंगली अन्दर बाहर करने लगा और बाद में उसके पानी का स्वाद चाटा तो उसका स्वाद मस्त था।

अब में आउट ऑफ कंट्रोल हो रहा था तो मैंने झट से उसकी पेंटी भी निकाल दी, उसकी चूत मस्त थी और एकदम गुलाबी थी। फिर में अपनी उंगली से उसकी चूत के दाने से खेलने लगा, एकदम मस्त चूत थी वो। फिर मैंने उसकी चूत में अपनी उंगली डालकर खुजलाना चालू किया और उससे वो पूरी तरह पागल हो गयी और कह रही थी गणेश प्लीज जल्दी करना, अब मुझसे रहा नहीं जा रहा है। इस दौरान उसने मेरी पीठ पर अपने नाख़ून चुभा दिए थे और अब में झट से उसकी चूत चाटने लगा तो जैसे ही मैंने उसकी चूत को अपने मुँह से टच किया तो वो उछल पड़ी। फिर मैंने अपनी जुबान को उसकी चूत में और अन्दर डालने की कोशिश की, लेकिन मुझे जल्दी नहीं थी। इसी समय श्वेता ने पानी छोड़ दिया। फिर मैंने उसकी चूत का पूरा पानी पी लिया, मस्त स्वाद था उसका।

अब मैंने उसको अपना लंड चूसने को कहा तो उसने मेरी अंडरवियर नीचे की और मेरे फुल कड़क लंड को अपने कोमल हाथों में पकड़ लिया। फिर उसने मेरा लंड चूसना शुरू किया तो अब श्वेता ठीक तरह से नहीं चूस पा रही थी। फिर मैंने उसे बताया कि वो सिर्फ़ अपने होंठो के सहारे सक करे ना कि दांतों से। फिर वो समझ गयी और बराबर सक करने लगी। अब 10 मिनट के बाद में झड़ने वाला था, लेकिन मैंने जानबूझ कर मेरा पानी उसके मुँह में ही छोड़ दिया। फिर उसने मेरा थोड़ा सा पानी पी लिया, शायद उसे ये सब पसंद नहीं था, लेकिन मैंने उसे समझाया कि शुरू में ऐसे ही होता है, तुम एक दो बार और करोगी तो तुम्हें बहुत पसंद आ जायेगा। फिर हम 69 पोजिशन में आ गये। अब में नीचे था और वो मेरे ऊपर थी, अब में उसकी चूत को फुल स्पीड से चूस रहा था और वो भी अब अच्छी तरह से सक कर रही थी।

अब उसकी चूत चूसते वक्त उसके बूब्स नीचे लटक रहे थे तो में उनको अपने हाथों में लेकर सॉफ्ट मसाज देने लगा। अब में धीरे-धीरे उसके निप्पल को अपनी उँगलियों से खींचने लगा और अब में ज़ोर-ज़ोर से उसके बूब्स दबाने लगा था। फिर  कुछ देर के बाद में झड़ गया और उसने मेरा पूरा पानी चूस-चूसकर पी लिया। इस दौरान श्वेता भी दो बार झड़ चुकी थी तो मैंने भी उसका पानी पी लिया था, उसका नया- नया पानी था और वो पहली बार इस दुनिया में आया था तो उसका पानी जैसे ही बाहर आया तो वो मैंने पी लिया था। अब हम बेड पर ऐसे ही 69 पोजिशन में पड़े थे और अब हम दोनों थक गये थे। फिर मैंने श्वेता से चूसने को कहा तो  5 मिनट के बाद उसने सक करना चालू किया और मेरा लंड फिर से सलाम करने लगा। अब श्वेता भी मेरा लंड चूसती जा रही थी। फिर मैंने सोचा कि श्वेता को चोदने का यही सही टाईम है। फिर मैंने श्वेता को उठाया और बेड पर मेरे नीचे सुला दिया। अब में उसके ऊपर चढ़ गया था, अब श्वेता अपने हाथ फैलाकर लेटी हुई थी।

अब मैंने उसके दोनों हाथों को कसकर पकड़कर किस करना चालू किया, कभी उसके गालों पर तो कभी उसके होंठो पर तो कभी उसकी गर्दन पर बहुत सारे किस किए। अब मैंने कई सारे लव बाईट भी दे दिए। अब में उसके बूब्स चूस रहा था और अब मैंने उसके दोनों बूब्स पर निप्पल के बाजू में एक लव बाईट का सर्कल बना दिया था। अब श्वेता से सहा नहीं जा रहा था और अब वो पागल हो रही थी, तो उसने मुझे टाईट हग किया और कहने लगी कि फक मी डार्लिंग। अब में उसे चोदने के लिए बिल्कुल तैयार था, अब मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रख दिया और धक्का दिया, लेकिन वो वहाँ से फिसल गया। श्वेता ने फिर से मेरा लंड पकड़ लिया तो उसी टाईम मुझे फिर एक बार करंट लग गया। दोस्तों उसके हाथो का टच कुछ अलग ही था। अब उसने मेरा लंड पकड़कर चूत के ऊपर रख दिया और आँख मार कर सर हिला दिया।

अब मैंने धीरे-धीरे धक्का देना शुरू किया तो अब मेरे लंड का टोपा अंदर जा चुका था। अब श्वेता को दर्द हो रहा था, लेकिन अब तक मेरा पूरा लंड अंदर नहीं गया था। मैंने कंडोम नहीं लिया था, इसलिए मैंने अपना लंड श्वेता के मुँह में डालकर चूसने को कहा तो उसने चूसते समय मेरा लंड गीला कर दिया।  अब मैंने उसकी चूत पर अपना लंड रख दिया और फिर एक बार धक्का दे दिया। अब मेरा आधा लंड अंदर जा चुका था, लेकिन यहाँ श्वेता का बहुत बुरा हाल था, क्योंकि उसकी चूत बहुत ही टाईट थी, उसकी चूत अभी तक सील पैक थी। फिर मैंने एक बार और धक्का दे दिया और अब इस बार मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में समा गया। फिर श्वेता ज़ोर से चिल्लाई तो मैंने झट से उसके मुँह पर हाथ रख दिया और अब वो रो पड़ी थी। फिर में थोड़ी देर रुक गया और अब उसका दर्द कम हुआ और में वापस चल पड़ा।

अब में आगे पीछे होने लगा था और मैंने धीरे-धीरे अपनी स्पीड तेज कर ली थी। इस बार श्वेता मेरे लंड को अंदर लेकर बहुत मजे लेने लगी थी। अब मैंने उसे बेड पर करीब 10 मिनट तक चोदा और इस दौरान उसकी सिसकारियां मुझे पागल कर रही थी, आआआआ आआईयईईईई। अब मैंने उसे डॉगी स्टाईल में आने को कहा। फिर मैंने उसके बूब्स पकड़ लिए और में उसे डॉगी स्टाईल में चोदने लगा, करीब 15 मिनट तक चोदने के बाद में अंदर ही झड़ गया और हम दोनों टाईट हग करके करीब 20 मिनट तक नंगे ही बेड पर लेट गये। फिर मैंने श्वेता को बता दिया कि मैंने अपना पानी अंदर ही छोड़ दिया है तो वो डर गयी। फिर मैंने उससे कहा कि कल सुबह आई-पिल ले लेना, तो वो मान गयी। अब हम दोनों वापस बेड पर बैठ गये और शॉवर लेकर फ्रेश होकर खाना खाने मेरे घर चले गये। अब खाना ख़ाकर फिर मैंने श्वेता को रोज की तरह उसके घर छोड़ दिया और फिर मैंने वहाँ से मेरे घर कॉल किया और कहा कि में मेरे दोस्त के पास सोने जा रहा हूँ, लेकिन मैंने घरवालों से झूठ कहकर उस रात श्वेता की जमकर चुदाई की और पूरी रात हमने 6 बार चुदाई की ।।

धन्यवाद …

Sex Stories – दोस्त की वर्जिन बहन की चूत चुदाई फ्लैट में

मेरे दोस्त विपिन की बहन तानी मेरी फेसबुक फ्रेंड थी और मेरी कविताओं से बड़ी ही प्रभावित थी, होने को तो तानी मुझसे पांच बरस छोटी थी लेकिन वो अब कॉलेज की क्वीन थी और दिखने में इतनी क्यूट की कोई भी तानी पर मर मिटे. लेकिन तानी तो मुझ पर मर मिटी थी, दरअसल वो स्कूल टाइम से ही मेरी फेसबुक फ्रेंड बन गयी थी और मेरे लिखे शेर और कवितायेँ उसको काफी पसंद आते थे और जाने कब तानी के दिल में मैं घर कर गया. मुझे भी इसका बी=पता तब चला जब तानी के घर में मेरी बात हो रही थी और विपिन नए बताया की मेरे लिए एक लड़की का रिश्ता आया है जो एक्स मिस चंडीगढ़ रह चुकी है. तानी नए मुझे फेस बुक पर मेसेज कर के कहा “आप शादी कर रहे हो” तो मैंने भी मज़ाक में कह दिया “तुम कहो तो ना करू” उसका जवाब आया “मैं कह रही हूँ प्लीज़ मत करो ना”. हालाँकि मुझे ये सब विपिन को बता देना चाहिए था लेकिन जितनी उनकी फैमिली नामचीन और रईस थी उतनी ही पुराने ख्यालों की भी थी सो कहीं तानी को कोई शर्मिंदगी ना उठानी पड़े इसलिए मैं चुप रहा.

अगले ही दिन तानी का कॉल आया और वो बोली “डिम्पी मैं तुमसे मिलना चाहती हूँ” मैं हैरान क्यूंकि जिस लड़की नए मुझे आप से नीचे नहीं पुकारा वो आज मेरा नाम ले रही थी और तू तडाके से बात कर रही थी, मैंने कहा “तानी तू भूल रही है तू किस से बात कर रही है” तो तानी नए कहा “मैं जानती हूँ तुम मेरी जान हो और मेरे ही रहोगे और हाँ चुपचाप मिलने आजाना और मेरे घर वालों या किसी को भी कुछ मत बताना”. मैं थोड़ी देर सोचता रहा और मैंने तानी को फ़ोन कर के कहा तेरे कॉलेज के बाहर हूँ आजा” तानी आई और उसने मुझे अपनी बाइक वहीँ पार्क करने को कहा और मुझे पानी कार में बिठा कर ले गयी. वो हाईवे पर जा रही थी और मेरी गांड फट के गुडगाँव हुई जा रही थी, मैं कहा “तानी कहाँ जा रहे हैं” तो बोली “बैठे रहो आज हम अकेले हैं और खुश हैं” फिर उसने जगजीत सिंह की ग़ज़लें लगा दी जो मेरी भी फेवरेट थीं.

तानी नए गाड़ी को कच्चे में उतार दिया जहाँ उसके पापा नए फ्लैट्स बना रहे थे, वहां पहुँच कर उसने चोव्किदर को गाड़ी की चाबी दी और कहा “सैंपल वाला फ्लैट रेडी है साहब को दिखाना है” चोकीदार ने मुस्कुरा कर दरवाज़ा खोल दिया और तानी मुझे सैंपल फ्लैट में ले गयी. ये फ्लैट पूरी तरह साफ़ सुथरा सजा धजा था और हर सामान ऐसे करीने से लगा हुआ था जैसे यहाँ आ कर बस रहना शुरू कर दो. तानी नए मुझे ड्राइंग रूम में बिठाया और बात शुरू की “देखो डिम्पी मैं बचपन से सिर्फ तुम्ही से प्यार करती हूँ और तुम्हारे बिना मर जाउंगी” मैंने  समझाया पर उसने मेरी एक ना सुनी और मुझ पर कूद पड़ी मैंने उसे हटाने की कोशिश भी की लेकिन तानी की खुशबु और उसके जिस्म की छुं से मैं पगला गया था और उसका साथ देने लगा.

तानी मुझे ड्राइंग रूम से बेडरूम में ले गयी और बोली “आज मैं तुम्हे अपना बना कर ही मानूंगी और तुम उस मिस एक्स चंडीगढ़ को भूल जाओगे”. बेडरूम में जा कर तानी और वाइल्ड हो गयी और उसने मेरे शरीर को ऐसे चूमना शुरू किया जैसे मैंने कोई स्वर्ग से उतरा हूँ, मैं भी तानी की रौ में बह गया और उसके कपडे उतारने लगा. उसका वो दुधिया जिस्म वो कमाल की मुस्कान और वो सेक्सी आवाज़जो तभी निकलती थी जब वो मूड में होती थी सब कितना मदहोश कर देने वाला था. तानी के कपडे उरने के बाद उसका चाँद जैसा बदन मेरे आगोश में था और वो हुस्न की मलिका मेरे जिस्म से खेलने को आतुर थी, मैंने तानी के गुलाब की पंखुड़ियों जैसे होठों को चूमा और खूब चूसा और तानी भी मेरे होठों और जीभ को चूस रही थी. उसका ये सेक्सी रूप देखने लायक था.

हम दोनों बेड पर पड़े एक दुसरे के जिस्म से ऐसे खेल रहे थे जैसे ये सेक्स ना हो कर बचपन का कोई खेल हो, तानी नए मेरे लंड को सहला सहला कर इतना तो होश में ला ही दिया था कि मैं उसकी चूत को धन्य कर सकूँ लेकिन वो नहीं मानी और उसने अपने मुंह में मेरा लंड ले कर उसकी वो चुसाई की जो आज तक किसी ने भी नहीं की थी. मैंने तानी को सीधा लिटाया और उसकी टांगों को चौड़ी कर के उसकी चूत जिस पर एक भी बाल नहीं था घुसा दिया तो तानी की चीख निकल गई और वो बोली “देखो डिम्पी मैं कहा था ना मैं तुम्हारे लिए ही सब कुछ संभाल रखा है, अब आज इस चमन को तुम्ही गुलज़ार  करोगे” वो बिलकुल मेरी कविताओं वाली भाषा में बात कर रही थी. मैंने तानी को वो जमकर चोदा की उसकी चूत में से खून निकल आया लेकिन उसने कहा “डरो नहीं मैं सब चेंज करवा दूंगी और किसी को कुछ नहीं पता लगेगा” तानी खून निकलने के बावजूद बस चुदे जा रही थी और अंततः झड़ भी गयी हालाँकि मैं उसे फिर भी चोदना जारी रखा क्यूंकि ऐसी कमाल की चूत मिले और आप उसे अधूरे में छोड़ दो ये कहाँ का इन्साफ है.

तानी ने जमकर मेरा लंड लिया और फिर मेरे झड़ने तक एक और बार झड़ी और फिर मुझसे लिपट कर सो गयी, शाम होने पर उसने मुझसे फिर प्रणय निवेदन किया जिसे मैंने स्वीकार भी किया और उस से वादा किया की मैं उसी से शादी करूँगा और फिर से हमने चुदाई मचाई. इस घटना के लगभग छह महीनों तक तानी को मैंने अलग अलग जगहों पर अलग अलग तरीकों से चोदा और एक दिन जब उसके पिता नए उसकी सगाई उस से बिना पूछे कहीं और कर दी तो तानी ने अपननी नसें भी काट लीं लेकिन उसके पिता नहीं माने. उन्होंने मुझे सम्जहय और तानी की शादी कहीं और कर दी, शादी के बाद तानी ने मेरा मुंह देखना भी बंद कर दिया था लेकिन कुछेक महीनों बाद वो वापस चुदने आई और इस बार तो पहले से भी ज्यादा हॉर्नी तरीके से चुदी  और बोली “जब तक ममेरी जान में जान है मैं तुम्हारी ही रहूंगी फिर भले किसी की भी बीवी रहूँ और तुम भी मेरे ही रहना भले तुम्हारी भी शादी हो जाए”.

फेसबुक चैट से चुदाई तक

मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ, मेरी उम्र छब्बीस साल है और मैं कुँवारा हूँ। मेरी लम्बाई पांच फ़ीट सात इंच है और मेरे पप्पू की छेह इंच।

मैं याहू-मैसेंजर पर बहुत बातचीत (चैट) करता था, लगभग पांच-छेह घंटे दिन में।

इसी दौरान मेरी बातचीत (चैट) एक लड़की से होने लगी जो कि सिक्किम की थी और धीरे-धीरे हमने सेक्स-चैट करनी शुरू कर दी।

उसका नाम श्रुति है और लम्बाई पांच फ़ीट दो इंच, फिगर लगभग 34-26-36।

मैं दिल्ली में अकेले ही रहता हूँ क्यूँकि मम्मी-पापा ज्यादातर रिश्तेदारों के पास दूसरे शहर में रहते हैं क्यूँकि वहाँ भी हमारा मकान बन रहा है।

श्रुति बी.पी.ओ. में काम करती थी। एक दिन उसने मुझे बताया कि उसका स्थानांतरण (जॉब-पोस्टिंग) अब दिल्ली में ही हो गया है जिसे सुन कर मैं बहुत खुश हुआ। (more…)

फेसबुक फ्रेंड को घर पे चोदा

हैल्लो फ्रेंड्स.. मेरा नाम राज है और में अहमदाबाद का रहने वाला हूँ और मेरी उम्र 20 साल है मुझे तो पता ही नहीं.. लेकिन लड़कियां बोलती है कि में बहुत हेंडसम हूँ और में जब चुदाई करता हूँ तो लड़कियों को जन्नत की सैर करा देता हूँ और 1 या 2 घंटे तक लड़की को छोड़ता भी नहीं हूँ.. जब तक उसको पूरी संतुष्टि नहीं मिलती बस चोदे ही जाता हूँ। आज तक जितनी भी लड़कियां या भाभी या आंटी को मैंने चोदा है वो आज भी मुझे याद किया करती है। मेरे लंड साईज़ 8 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है। में आपको आज मेरा अपना आखरी सेक्स अनुभव शेयर कर रहा हूँ जो कि मेरी भाभी के साथ है। दोस्तों यह बात अभी एक सप्ताह पहले की है। में स्टेशन पर मेरे दोस्त का इंतजार कर रहा था और वहां पर मैंने देखा कि एक जोरदार ब्यूटीफुल लड़की खड़ी थी। उसका क्या बदन यारों और क्या फिगर था? दोस्तों पता नहीं मेरी नज़र भी इतनी कातिल है कि में लड़की को देखकर ही उसका फिगर और उसके बारे में बता देता हूँ कि उसके साथ कितना मज़ा आएगा। उसका फिगर 34-28-34 था। क्या माल लग रह थी? यारो मेरा तो उसको देखकर ही लंड खड़ा हो गया था और में उसको अपनी बाईक पर बैठकर देखे ही जा रहा था और उसने भी यह नोटीस कर लिया था कि में उसे देख रहा हूँ। तभी थोड़ी देर में मेरा फ्रेंड आया उसने मुझको वो हार्ड कॉपी दी और हमने थोड़ी देर बात की फिर वो भी चला गया.. लेकिन अभी भी में वहाँ पर खड़ा रह कर उसको ही देख रहा था और वो दोपहर का टाईम था और वो भी अब बार बार मेरी तरफ देख रही थी। (more…)

बॉयफ्रेंड के साथ प्यार भरा सेक्स

प्रेषक : सोनिया …

हैल्लो दोस्तों, मेरे नाम सोनिया है और राज के साथ मेरा प्यार भरा जीवन बहुत अच्छा चल रहा था और अब हम धीरे धीरे एक दूसरे को मन से बहुत चाहने लगे थे और सेक्स में भी बहुत कुछ नया नया करने लगे थे, लेकिन हमने अब तक कभी सेक्स नहीं किया था एक दो महीने ऐसे ही निकल गये और फिर वॅलिंटाइन्स का दिन आ गया उस दिन राज ने मुझे बहुत अच्छे से प्रपोज़ किया और हमने वो सारा दिन साथ में बिताया हमने एक बहुत अच्छे से रेस्टोरेंट में लंच किया फिर फिल्म देखने चले गये और शाम को एक बार फिर से एक रेस्टोरेंट में खाना खाने बैठ गए। (more…)

दोस्त की नशीली प्यासी बीवी

मेरा नाम अर्नव है, मैं अहमदाबाद, गुजरात से हूँ।

मेरा एक दोस्त है अभिषेक(नाम बदला हुआ) उसकी 4 साल पहले शादी हुई, तब वो 22 साल का था, मेरी अभी भी शादी नहीं हुई है। वो और उसकी बीवी रीमा (नाम बदला हुआ) एक फ्लैट में रहते हैं। रीमा दिखने में बहुत ही सेक्सी है। सच बताऊँ तो पहले मैंने उसके बारे में गलत नहीं सोचा था लेकिन दो एक बार मैंने उससे ऐसे देखा कि मेरा मन बदलने लगा, उसकी पतली कमर, चिकनी मस्त गांड, भरी हुई बड़ी-बड़ी चूचियाँ देख कर मेरे मन में उसके साथ रात बिताने के ख्याल आने लगे, पर मैं कुछ कर नहीं सकता था। हाँ, हम मिलते और बातें भी करते थे पर ऐसी कोई बात नहीं कर पाता था मैं !अभिषेक स्टॉक-मार्केट का काम करता है, तो बीच में स्टॉक मार्केट में नुकसान होने की वजह से वो शराब पीने लगा था। (more…)

बारिश में भाई ने चोदा

Hindi Sex Kahani मेरा नाम रवीना है और मेरी उम्र 22 है। यह मेरी पहली Story है. लेकिन मैंने इस साईट पर बहुत सी Sex कहानियाँ पढ़ी है। दोस्तों आम तौर पर सब लोग यही मानते है कि सेक्स को लेकर लड़को में बहुत जोश होता है। यह बात एकदम सही है.. लेकिन यह बात भी मान लीजिए कि लडकियों में भी सेक्स को लेकर उतना ही जोश होता है। पर हम लड़को को पता नहीं लगने देते। मेरी सभी दोस्त इस साईट की कहानियों को पढ़कर बहुत मज़े लेती है। आज में आप सभी से जो कहानी शेयर कर रही हूँ.. इससे बस यही साबित होता है कि एक लड़का और एक लड़की के बीच सिर्फ़ एक ही रिश्ता हो सकता है और वो आप सभी जानते होंगे.. लीजिए में अपनी कहानी पर आती हूँ। दोस्तों यह पिछले साल बरसात के दिनों की बात है। हमारे कॉलेज की छुट्टी हुई और अचानक मौसम खराब हो गया और जोरों से बारिश होने लगी। में कुछ देर तो कॉलेज में रुकी और एक घंटे तक में वहाँ पर खड़ी रही.. लेकिन बारिश रुकने का नाम ही नहीं ले रही थी और अब धीरे धीरे रात भी होने को थी.. तो में बारिश में भीगते भीगते अपने घर पर आ गयी। (more…)

दीदी की गांड में उगली छूट में लंड

हैल्लो दोस्तों, में पुणे का रहने वाला हूँ. दोस्तों आज मैंने सोचा कि क्यों ना में आज अपनी भी कहानी लिख ही दूँ? दोस्तों यह मेरी आज की कहानी मेरी और मेरी बहन की है. दोस्तों सभी मुझे घर पर प्यार से सैफ बुलाते है, में दिखने में भी बहुत अच्छा लगता हूँ और मेरी उम्र 22 साल है और अब में अपनी आज की कहानी पर आता हूँ.

दोस्तों यह कहानी आज से तीन साल पहले की है, जब में 12th में था और मेरी बड़ी बहन आलिया उस समय अपनी बी.ए. की पढ़ाई कर रही थी और वो मुझसे सो साल बड़ी है. हमारे घर में चार लोग रहते है में, दीदी, मम्मी और पापा. मेरे पापा एक प्राइवेट कम्पनी में है तो वो सिर्फ़ एक हफ्ते के लिए ही घर पर रहते थे और बाकी दिन कम्पनी के काम से बाहर रहते थे. मेरी माँ एक ग्रहणी है तो वो भी हमेशा अपने घर के काम में व्यस्त रहती है. दोस्तों मेरी दीदी दिखने में कटरीना कैफ़ जैसी है. उसका गोरा रंग, गदराया हुआ बदन और कूल्हे थोड़े बाहर को निकले हुए है और वो दिखने में बहुत सेक्सी लगती है. में और दीदी एक ही रूम में सोते थे. उस समय मेरे पेपर थे और दीदी के भी. हम उन दिनों देर रात तक पढ़ाई करते थे तो दीदी बेड पर और में टेबल कुर्सी पर बैठता था. (more…)

मीनल को चोदा क्लास में

हैल्लो फ्रेंड्स.. मेरा नाम साहिल और में अमृतसर का रहने वाला हूँ और यह स्टोरी मेरी जिंदगी में घटी एक सच्ची घटना है और आज में इसे आपके साथ Indiansex.Host पर शेयर कर रहा हूँ और मुझे इस साईट पर सेक्सी कहानियाँ पढ़ना बहुत अच्छा लगता है। मेरी उम्र 21 साल है और मेरी हाईट 5 फुट 9 इंच है। दोस्तों यह कहानी तब की है जब में बीकॉम के दूसरे साल में था और दो साल से पहले मैंने कभी किसी लड़की को प्रपोज नहीं किया था.. क्योंकि में बहुत शरम महसूस करता था और इन दो साल में मैंने अपनी क्लास की 5-6 लड़कियों को प्रपोज किया था.. लेकिन उन सभी ने मुझे ना कर दी और में भी कभी सीरीयस नहीं था.. लेकिन फिर भी सब लड़कीयों से बातचीत कर लेता था और सभी मेरी अच्छी फ्रेंड्स थी और में अपने फ्रेंड्स के साथ हंसी मज़ाक के माहोल में रहता था। (more…)

वर्जिन गर्ल की चुद की चुदाई

दोस्तों आज मैं आपको एक अपनी सच्ची कहानी सुनाने जा रहा हु, इस कहानी में मेरे साथ जो लड़की है जिसकी चूत की सील मैंने तोड़ी आज मैं आपको अपने शब्दों में बयां कर रहा हु, आशा करता हु, की आपको ये मेरी कहानी एक कुंवारी लड़की को चोदने का जो एहसास होता है उसी के बारे मैं आपके सामने रख रहा हु, कैसे मैंने वो टाइट बूर में अपना लौड़ा डाला था, दोस्तों शायद ये मेरी ज़िंदगी का सबसे खुशनसीब पल था वो पहला से लेके पांचवे दिन तक. अब मैं आपको आपका टाइम खराब नहीं करते हुए मैं अपनी चुदाई की कहानी सूना रहा हु. (more…)

कॉलेज बॉयफ्रेंड के साथ पहली चुदाई का मजा

hy mera naam lalita h mere frnz mijhe lolz bhi khte h mai uttarakhand ke almora jile ki rhne wali hu, mai ek frank ladki hu…. hight 5″3,rang gora or bade boobs or sexy fig. h
jyada tym na lete hue m sidhe kahani p ati hu aaj se 2 saal phle ki baat h mai khunt apne bua ki shadi p gayi thi waha kayi ladke aaye the but mujhe unki harkat pasand ni aayi but unme ek ladka or vi tha bhot sidha handsome smart sa ladka , mene apni mosi ki ladki se uska naam pucha to usne bataya k uska naam honey singh h, naam sunke mai has padi fir mene rekha di se pucha to unhone bataya uska naam parth tha, ab m balkini m khadi thi vo niche gardan m tha or mujhe dekh ra tha mujhe vo pasand tha to mene vi has di or vo dussri or dekhne laga. (more…)